Learn IP address in Hindi .

What is ip add in hindi, IP Address in hindi

दोस्तों  Technology के क्षेत्र में हम एक word हमेशा सुनते रहते हैं और वह है – “IP  ADDRESS“ .  जी हाँ IP address अर्थात Internet Protocol Address जिसकी वजह से हम अपने Computer or  Laptop even Mobile पर Internet or Intranet use करते हैं। आज हर कोई Internet का उपयोग करके बड़ी आसानी से दुनिया के किसी भी कोने में किसी से भी Communication  कर सकता है । दोस्तों अगर आपको IP address के बारे में Basic जानकारी है तो आप बिना समय बर्बाद किये इस Post  को skip कर सकते हैं।  अगर आप Basic जानकारी  चाहते है तो इस Post को अवश्य पढ़ें उम्मीद करता हूँ की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको IP ADDRESS के बारे में Basic जानकारी प्राप्त हो जाएगी |

IP ADDRESS क्या होता है?

“IP ADDRESS” का Full Form होता है “Internet Protocol”  & यह एक तरह से Numbers होते हैं , जिसका प्रमुख़ Job Network devices को एक unique level assign (IP address provide)  करना और उनके बीच communication  channel create करवाना होता है । आज हर एक सिस्टम जिसमे इन्टरनेट का इस्तेमाल होता है और उस सिस्टम की एक अलग पहचान (Unique Identity) होती है, जिसे IP ADDRESS कहते हैं | इसी IP ADDRESS के द्वारा इन्टरनेट को सिस्टम की पहचान होती है और Data का आदान प्रदान होता है |

IP address Example :-  192.168.1.1 ,  10.72.178.255 , 255.255.0.0 etc

यह TCP/IP का एक part  है  (TCP + IP) , यंहा TCP अर्थात Transfer control protocol . यह एक Protocol है जिसे हम simple language  में rules, software, application भी कह सकते हैं । किसी भी तरह का Network Communication  होने के लिए इस Protocol  की जरूरत होती है। दोस्तों IP address जो की एक Numbers Form में होता है और इसे हम Network Device को देते हैं  , वास्तव में Communication  करवाने का कार्य तो TCP का होता है।TCP ही Communication को flow  एवं Control  करता है।  

IP ADDRESS की जरुरत क्यों पड़ती है?

दोस्तों  जितनी भी Website, Server, Computer,Mobile,Laptop,Printer Network के द्वारा जुड़े है उनका Original Address  या Unique Identification एक “IP Address” ही होता है| सभी IP Address को ARP (Address resolution Protocol) के द्वारा एक Website जैसे Yahoo.com,Gmail.com,Facebook.com जैसे नाम में Convert कर दिया जाता है, जिससे इसे आसानी से याद रखा जा सके और DNS (Domain Name System) की सहायता से Website के IP Address का पता लगाया जा सकता है |

For Example- अगर आपको सभी Website के नाम उनके IP Address से याद रखना पड़े जैसे Facebook.com के लिए  https://157.240.24.35/ तो ऐसी करोडों Website है जिसे IP Address से याद रख पाना बहुत ही मुश्किल है |

इसलिए IP Address को Facebook, Yahoo,Google जैसे नाम में change कर दिया गया, ताकि लोग आसानी से इन्हें याद रख पाए. और सभी Website के address तक आसानी से पहुच पाए.

Types Of IP Address :-

दोस्तों IP Address को use  करने के Point Of View से देखा जाए तो यह 2  Types के होते हैं –  Public IP address & Private IP address . हाँ अगर इसके Version की बात करें तो IP Version 4 का Upgraded Version IP Version 6 है।

Format Of IP address (IP V4 Vs IP V6):- 

  • IP Address 4 का format  32 bit Numerical Numbers में होता है तो IP Version 6 (IPv6) 128 bit Numerical & Alphabetical  Numbers में होता है।
  • Example Of IPv4 –     10.72.178.2
  • Exapmple Of IP v6 –    3ffe:1900:4545:3:200:f8ff:fe21:67cf
  • IPv 4  में Total 2^32 IP address  होते हैं जबकि IPv6 में 2^ 128  IP  Address होते हैं।

 

दोस्तों उम्मीद करता हूँ की यह लेख पढ़ने के बाद IP Address के बारे में आपको अच्छी जानकारी उपलब्ध हो चुकी है |

अगर आपको यह IP Address से सम्बंधित यह जानकारी पसंद आई हो, तो आप इसे Like जरुर करे और अगर IP Address से सम्बंधित कोई भी सवाल या सुझाव हो, तो आप Comment के माध्यम से हमें जरुर बताएं |