What is BIOS in computer ?

अक्सर Interview में BIOS के बारे में question पूछा जाता है , और बहुत से लोगों को इसके बारे में पूरी एवं सटीक जानकारी नहीं होती है . दोस्तों आज मेरी कोशिश यही है की मैं आपको इसके बारे में एकदम सटीक एवं short जानकारी दे पाऊं .

BIOS का full form Basic Input Output System होता है . यह हर computer के motherboard पर एक chip में store होता है जिसे हम Firmware कहते हैं , इसे आप एक तरह का software / utility भी कह सकते हैं . BIOS का जनक Gary Kildall हैं जो की
American computer scientist थे . विकिपीडिया पर आप इसके बारे में पूरी जानकारी लगभग प्राप्त कर सकते हैं , लेकिन हमे इतने details में जाने की जरुरत नहीं है . interview लेने वाला व्यक्ति आपसे सिर्फ इतनी ही उम्मीद करता है की bios का short Definition & Job आप बता सकें . आईये हम short में BIOS को समझते हैं .

  • BIOS एक Firmware / utility /software है . इसे firmware कहना ज्यादा उचित है .
  • firmware का मतलब ऐसे छोटे software से है जो किसी छोटे hardware में fix install किये हों , और उनके कोई changes न होता हो .
  • BIOS का job आपके computer के input और output hardware को control करने के लिए होता है .
  • BIOS ही आपके computer में connected सभी hardware को check करता है . यदि कोई basic hardware जैसे Hard disk , keyboard , Mouse नहीं connected होते हैं तो यह तुरंत error देता है .
  • System का Date & Time भी यंही से manage होता है .
  • BIOS की setting में ही जाकर आप boot device order को change कर सकते है . जो की first time operating system को install करने के लिए बहुत ही us-full होता है .
  • BIOS में जाकर आप Boot from CD-ROM, Boot From Hard Drive, Boot from LAN, etc कर सकते हैं .
  • BIOS की setting में जाने के लिए keyboard के Del / Delete का button press करना होता है . save करने के लिए F10 का button होता है . (कुछ motherboard में यह button अलग भी हो सकता है ).
  • BIOS को update भी किया जा सकता है , जिसके लिए आपको motherboard manufacturer की website से related update download करना होगा .

दोस्तों आपको यह पोस्ट कैसा लगा , अपने comments के माध्यम से जरुर बताएं . अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा हो तो social media पर share करना न भूलें .

Thanks.