“मुझे English से नफरत नहीं , बल्कि हिंदी से प्यार है”.

दोस्तों सबसे पहले इस website / Blog पर visit करने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद। कोशिश यही है की हिंदी का प्रचार – प्रसार निरंतर करता रहूँ , आप सभी का सहयोग मिलता रहे और यह कारवाँ आगे बढ़ता रहे।   उम्मीद में बैठा हूँ की हिंदी को भी English की तरह या उससे भी कह़ी ज्यादा महत्व दिया जाएगा। कहते हैं की जननी , जन्भूमि और मातृभाषा छोड़ी नहीं जाती , इससे जितना प्यार करोगे, जिंदगी जीने का मजा उतना बढ़ता जायेगा।

इस ब्लॉग को बनाने का मकसद सिर्फ ब्लॉग से पैसे कामना ही नहीं परन्तु Technology का सही ज्ञान हिंदी भाषियों तक पहुँचाना भी है।  मेरा मानना है की आप किसी भी चीज को बेहतर तभी समझ सकते हैं जब उसे आप अपनी मात्रभाषा (mother tongue ) में पढ़ें।

मेरा education background इतना अच्छा नहीं की मैं किसी को अपनी मिसाल दे सकूँ , हिंदी माध्यम से पढ़ाई करना और Technology में JOB  करना महज एक संयोग है। वैसे मैंने अपने आप को हर जगह average ही पाया है , चाहे वह खेल का मैदान हो या स्कूल का रिजल्ट। मेरे result  से मेरे चाहने वाले कभी संतुष्ट नहीं थे , लेकिन मैं संतुष्ट था, वजह बता नहीं सकता। 8 – 10 साल के निरंतर संघर्ष के बाद corporate sector  में चैन से सांस ले संकू , इतना experience हो चुका है , job खोने का डर नहीं है। हमेशा कुछ न कुछ नया सीखना आदत सी रही है , गूगल बाबा ने हमेशा साथ दिया है।  जब समय होता है तो गूगल बाबा से संपर्क बना लेता हूँ , और अगर ज्यादा boring महसूस हुआ तो YouTube के पांडाल में चला जाता हूँ।

दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से मैं अपना Experience एवं knowledge  आप लोगों से share कर रहा हूँ , content की quality एवं realty बनी रहे इसकी पूरी कोशिश करता हूँ। फिर भी गलती होने के संभावना हो सकती है , उम्मीद करता हूँ आप अपने comments एवं email के माध्यम से उन ग़लतियों को सुधारने का अवसर ज़रूर देंगे।

एक बार फिर से आपका बहुत बहुत धन्यवाद।  Thanks .