Difference between USB and PS2 Ports. Learn in Hindi

मेरे एक दोस्त ने कल मुझसे एक Mouse ( कंप्यूटर का माउस ) माँगा तो मैंने उससे पूछा कि तुझे कौन सा माउस चाहिए PS2 Mouse या फिर USB या Wireless . दोस्त ने कहा भाई कोई भी दे दे लेकिन कार्य करने में बढियाँ और फ़ास्ट होना चाहिए। तभी मेरे मन में विचार आया की कौन सा माउस बेहतर होता है ? PS2 माउस या फिर USB माउस .

इसी के साथ साथ यह भी विचार मन में उठा की PS2 Port और USB Port में बेस्ट क्या है ? इसमें क्या अंतर् है ?  अगर हम अपने कंप्यूटर के लिए Keyboard और Mouse / Mice खरीदने जा रहे हैं तो हम कौन से Port का Keyboard अथवा Mouse खरीदें। 

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट (Difference between USB and PS2 Ports. Learn in Hindi)  में हम लोग PS/2 और  USB Port दोनों को Defth में समझेंगे। 

Difference between USB and PS2 Ports. Learn in Hindi

PS 2 Port क्या होता है ? 

दोस्तों  Desktop Computer  में अक्सर PS 2 Port देखने को मिल जाता होगा। आज कल के नए कंप्यूटर में शायद यह देखने को न भी मिलता हो। क्यूंकि PS2  के स्थान पर अब USB पोर्ट का उपयोग होता है। लेकिन आज भी बहुत से कंप्यूटर अथवा सर्वर में PS2 पोर्ट देखने को मिलता है। आईये हम PS2 के बारे में समझते हैं और उसके बाद USB को समझेंगे। 

PS/2 पोर्ट यह एक 6 पिन का पोर्ट होता है। यह जो 6 पिन होते हैं उसे DIN Connector कहते हैं। मतलब PS/2 पोर्ट में  6 पिन का मिनी DIN Connectors होते हैं। DIN Connectors यह एक इलेक्ट्रिकल कनेक्टर होता है , जिसका Standardization जर्मन की  Deutsches Institut für Normung आर्गेनाईजेशन द्वारा सन 1970 में किया गया  था।

PS/2 का मतलब  होता है Personal System 2 . IBM ने जब अपना Personal System 2 series का Computer लांच किया तब सबसे पहले Keyboard और Mouse को कनेक्ट करने के लिए 6 Pin का DIN Connector का उपयोग किया और इसकी शुरुवात लगभग 1987 के दसक में हो गयी थी। 

PS 2  Port यह एक इनपुट पोर्ट है। इसमें कनेक्टेड डिवाइस सिर्फ Input देने का कार्य करते हैं। कंप्यूटर में कीबोर्ड और माउस के लिए अलग – अलग PS/2 Ports होते हैं। Mouse के लिए Use होने वाला Ps/2 पोर्ट का कलर Green होता है जबकि Keyboard के लिए Purple कलर। ऐसा नहीं हो सकता है की आप कीबोर्ड के पोर्ट में माउस को use करें और माउस की जगह कीबोर्ड। अगर ऐसा करते हैं तो हो सकता है की आपके डिवाइस सही से कार्य ही न करें। और सबसे अहम बात कि कंप्यूटर बंद करने के बाद ही PS/2 कीबोर्ड अथवा माउस को कनेक्ट करना अथवा निकालना चाहिए। 

USB and PS2 Ports.
Difference between USB and PS2 Ports.

PS/2 Port यह Point to Point Communication करता है। इसके किसी Port पर लगा हुआ Device Direct प्रोसेसर से कम्यूनिकेट करता है। इसलिए इस पोर्ट से होने वाला कम्युनिकेटिव फ़ास्ट होता है। 

PS/2 Ports और PS/2 Keyboard & Mouse के बारे में –
  • PS/2 Port यह एक तरह का Communication Port है। 
  • यह एक Input Port है। 
  • Keyboard और Mouse के लिए अलग – अलग कलर के Port होते हैं। 
  • Keyboard के लिए Purple Color और Mouse के लिए Green Color .
  • PS/2 के नए अविष्कार में अब Combo पोर्ट भी आता है। इसका मतलब की एक ही पोर्ट में Keyboard & Mouse दोनों ही कनेक्ट कर सकते हैं। 
  • USB to PS/2 कनवर्टर का उपयोग करके भी हम PS/2 keyboard & Mouse को Use कर सकते हैं। 
  • PS/2 Port, कंप्यूटर में लगे हुए Processor से Communicate करने के लिए Duplex Communication method use करता है। इसलिए इसका कम्युनिक्शन फ़ास्ट होता है। 
  • PS2 यह एक पोर्ट है इसलिए एक पोर्ट पर एक ही डिवाइस को कनेक्ट किया जा सकता है। 
  • PS/2 isn’t plug and play which means you cannot simply plug PS/2 cable in and use it.
  • PS2 के ख़राब होने के ज्यादा chances होते हैं। 

USB Ports क्या होते हैं ?

USB का Full Form होता है – Universal Serial Bus . आज के हर कंप्यूटर में यह पोर्ट पाया जाता है। इसका सबसे बड़ा उपयोग Inpute or Output Devices को Connect करने के लिए होता है। यह सबसे पहले 1996 को देखने मिला। इसके कई वर्शन आ चुके हैं जैसे USB 1.0 , USB2.0, USB3.0 etc.

USB Ports में आप Keyboard , Mouse , Speaker , Printer , Charger , Camera इस तरह के कई डिवाइस को कनेक्ट कर सकते हैं। USB Ports एक तरह से Multipurpose Ports होता है।  इसका कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है जबकि PS/2 पोर्ट्स में एक Limitations था . यही कारण है कि USB Ports ज्यादा से ज्यादा देखने मिलते हैं और PS/2 पोर्ट्स धीरे – धीरे बंद होने लगे हैं। 

Difference between USB and PS2 Ports. Learn in Hindi

USB Ports & USB Keyboard & Mouse के बारे में –
    • USB – Universal Serial Bus
    • सबसे पहले यह 1996 ईयर में अस्तित्व में आया। 
    • USB Ports से Power Supply भी होता है। 
    • इसमें लगने वाले डिवाइस Plug & Play होते हैं। 
    • USB is a uniform I/O interface.
    • USB के किसी भी Ports पर USB Keyboard अथवा Mouse को कनेक्ट कर सकते हैं। 
    • USB Keyboard & Mouse , Hot Swappable Devices होते हैं। 
    • USB एक Bus है इसलिए many devices को connect किया जा सकता है। 
    • USB provides an amazing speed of 480 megabits per second!
    • USB के ख़राब होने के बहुत कम चान्सेस होते हैं।

Related Post :-

Leave a Comment

Share