What is On Page SEO ? Learn in Hindi – 2021

On Page SEO वह Technics है , जिसे हम अपने Blog या Website के Post /Content को किसी Keyword पर Search Engine में  पर Top Ranking पर लाने के लिए करते हैं। दोस्तों इसका कोई fix definition नहीं होता है क्यूंकि यह एक Ongoing Process होता है।

On Page SEO

दोस्तों हमने अपने पिछले Post  में SEO के Basics को समझा था। आज के इस Post में जिसका Topic है “What is On Page SEO ? Learn in Hindi – 2021” में हम SEO के On Page Technics को समझने की कोशिश करेंगे। दोस्तों यंहा पर SEO का मतलब Search Engine Optimization है। चूँकि यह Word  बोलने या लिखने में थोड़ा सा  बड़ा लगता है इसलिए इसके स्थान पर SEO Word को ज्यादा Use किया जाता है।

दोस्तों पिछले Post में हमने पढ़ा था कि SEO  प्रमुखतः 3 types से होता है –

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Technical SEO

आज के इस Post में हम On Page SEO के बारे में विस्तार पूर्वक जानेंगे एवं समझेंगे।

On Page SEO क्या है ?

On Page SEO वह Technics है , जिसे हम अपने Blog या Website के Post /Content को किसी Keyword पर Search Engine में  पर Top Ranking पर लाने के लिए करते हैं। दोस्तों इसका कोई fix definition नहीं होता है क्यूंकि यह एक Ongoing Process होता है।

दोस्तों On Page SEO हम अपने Blog के Post को Optimize करने के लिए करते हैं।  यह पूरी तरह से हमारे Control में होता है या यूँ कह लें कि इसके 98 % factors या Elements हमारे Control में होते हैं।  दोस्तों On Page SEO के बहुत सारे Factors होते हैं , हम सभी की तो नहीं परन्तु कुछ महत्वपूर्ण Factors को जरूर समझेंगे।

हर Search Engine,  Algorithm Based होते हैं। इनके कुछ Rules और Factors होते हैं जिसके based पर ये किसी Particular Keyword पर  Content की Ranking करवाते हैं।

On Page SEO should be done even if you rank #1 in the organic search results because SEO is an ongoing process. 

कुछ Basic On Page SEO Factors :-

दोस्तों यंहा पर मैं कुछ On Page SEO के Basic factors साझा कर रहा हूँ।  इसके हर एक पहलुओं को आगे हम एक – एक करके depth में समझेंगे।

  • Website Should be Crawlable :-

Website Crawlable का अर्थ होता है कि Google या अन्य Search Engine द्वारा आपकी Website या Blog पर Crawling करना  हो एवं उसकी Indexing भी करवाना । अब Website या Blog Crawling क्या होता है ? यह हम आगे पढ़ेंगे। अपने Blog की Crawling कराने का सबसे अच्छा तरीका है – ब्लॉग के URL को Google Webmaster (जिसे अब Google Search Central कहते हैं ) में Submit करना।

  • User Friendly URL :-

दोस्तों SEO के purpose से यह बहुत जरुरी है कि आपकी Website या Blog का URL  User Friendly हो। इसका सीधा तात्पर्य आपके Domain Name से है। Domain Name Simple और सटीक होना चाहिए। ताकि User को आपके Blog या Website का URL याद रहे। जैसे www.hp.com  ,  www.mswindows.net , etc.

  • Well Targeted Content :-

आपका Post या Website पर डाला गया Content , Well Targeted होना चाहिए। मतलब आपको Post लिखने से पहले – “क्यों , किसलिए , किसके लिए और क्या लिखना है ” यह समझना होगा। यह बहुत ही मत्वपूर्ण है। ऐसा करने से आप अच्छा Post अपने Targeted Peoples या Audience के लिए कर सकते हैं। दोस्तों Targeted Content क्या होता है , इसके बारे में मैं आगे Post बनाऊंगा तब और अच्छे से आपको समझ आय जाएगा।

  • Keyword Optimization :-

Keyword Optimization or Keyword Research दोनों का अर्थ एक ही होता है। यंहा पर आपको Searching , Analyzing और Best Keyword Selection पर कार्य करना होगा ताकि Search Engine के जरिये आपके Blog या Post पर Qualified Traffic लाया जा सके।

Keyword Optimization is the act of researching, analyzing & selecting the best keywords to target to drive qualified traffic from search engine to your blog.

  • Website Optimization :-

Website Optimization आपके Blog के Performance को बेहतर बनाने व् अधिक से अधिक valuable traffic को बढ़ाने के लिए Tools , Advanced Strategies & Experiment की जानेवाली प्रक्रिया है। जैसे Page Speed , Mobile Usability , Backlinks etc.

  • Image Optimization :-

दोस्तों कहते हैं न कि ” एक तस्वीर हजार शब्द से बढ़कर है। ”  यंहा पर  Image को Optimize करना बहुत ही important है।   जैसे Content से सम्बंधित Image को Post में add करना।  Image का Size, Quality इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखना होता है।

A picture is worth a thousand words.

  • HTTPS :-

HTTPS का Direct Relation SSL Certificate से होता है।  Google भी यह Recommend करता है कि सभी Website और Blog SSL Certified हो। इससे Readers का आप के ब्लॉग पर Trust ज्यादा बढ़ जाता है। SSL Certificate आपके ब्लॉग के Data को Encrypt करने के लिए होता है।

 

  • Readability & UX (User Experiance) :-

Readability का मतलब होता है कि आपके लिखे Post को पढ़ना एवं समझना कितना आसान है। आपका लेख जितना आसान होगा समझने में वह SEO के Point of View से उतना ही अच्छा है। इसलिए ऐसा लेख लिखे कि जो भी Reader Post को पढ़े वह तुरंत Post के बारे में समझ जाए।

  • Mobile Friendliness :-

आपका ब्लॉग Mobile friendly होना चाहिए। क्यूंकि आज ज्यादा से ज्यादा लोग Internet को अपने Mobile पर ही use कर रहे हैं। कहने का मतलब यह है कि आपके ब्लॉग या पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा मोबाइल पर देखा या पढ़ा जा रहा है।  इसलिए आपका ब्लॉग मोबाइल Friendly होना बहुत जरुरी है।

  • Quality Outbound Link :-

आपके Blog Post  पर जो भी Outbound Link हों वे सभी Quality के Point of View से सटीक एवं Post से सम्बंधित होने चाहिए।

  • Website Structure :-

Website का Structure अच्छा एवं लुभावना होना चाहिए जिससे Viewers तुरंत attract हो जाये।  Website Structure का मतलब आपके  ब्लॉग के Theme & उसके डिज़ाइन से है।

दोस्तों यह On Page SEO  पर Basic Information था , इसके आगे के Post में हम इन हर पहलुओं को बहुत ही Details में समझेंगे।