What is Digital Marketing ? Basic of Digital Marketing In Hindi.

Digital Marketing is today's trend. In this article you can learn & find basic information about Digital Marketing .

Digital Marketing मूलतः दो शब्दों के योग से बना हुआ है , जिसमे एक शब्द Digital तो दूसरा शब्द Marketing है। यंहा Digital का संबंध Internet से है जबकि Marketing का संबंध किसी वस्तु अथवा सेवा को बाजार तक पहुंचना एवं उसकी विक्री करके उस कंपनी को मुनाफा कराना है। Digital Marketing को हम Internet अथवा Online Marketing भी कहते हैं। यह अपने आप में एक बहुत ही बड़ा विषय है जिसे समझना बहुत कठिन नहीं तो बहुत सरल भी नहीं है।  इस विषय पर इस तरह के कई  Post लिखे जा सकते हैं।  हम Digital Marketing को धीरे – धीरे छोटे -छोटे Post के माध्यम से समझने एवं जानने की कोशिश करेंगे। दोस्तों अगर आपने मेरे लिखे हुए इन पोस्टों को Day One से Follow करना शुरू किया तो मैं उम्मीद के साथ कह सकता हूँ कि अगले कुछ ही दिनों में आप Digital Marketing को समझ ही नहीं बल्कि इसे करने भी लगेंगे।

What is Digital Marketing ?
Digital Marketing

Digital Marketing क्या है ?

जैसा की हम जानते हैं कि Digital Marketing , Internet Marketing और Online Marketing इन सबका मतलब एक ही है। और यह एक Process है जिसके तहत किसी Company के Product अथवा Service को लोगों तक Digital तरीके से पहुँचाना होता है। इसे और सरल शब्दों में कहा जा सकता है कि “अपने Product or Services को Digital Chanel के माध्यम से Marketing करवाना (बाजार तक पहुँचाना ) एवं ज्यादा से ज्यादा विक्री करके मुनाफा कमाना ” इस पूरी प्रक्रिया को Digital Marketing कहते हैं।

किसी Product or Services का Advertising or Promotion का एक ऐसा तरीका है जंहा पर Electronic Devices का Involvement  होता है , उसे Digital Marketing कहते हैं। 

Digital का मतलब उन साधनों एवं उपकरणों (Electronic Devices ) से है , जंहा पर Internet Use होता है। जैसे Internet , Internet Supported Mobile Phones , Laptops , Tablets , Computers , Social Media Platforms , Emails , Websites  इत्यादि।

Digital Marketing क्यूँ ?

आज के समय में Digital Marketing करने के बहुत सारे कारण एवं फायदे हो सकते हैं परन्तु इसे न करने का कोई कारण नजर नहीं आता है। आज हम अगर India की बात करें तो, पुरे Mobile Phones उपयोगकर्ता में से लगभग 95 प्रतिशत लोग Android Phones  का उपयोग करते हैं। मतलब दिन – प्रतिदिन Internet एवं Android Phones के गिरते दाम के कारण Android Users  की संख्या बढ़ती जा रही है। लोग अपना ज्यादा से ज्यादा समय Social Media , Internet , Google , You Tube etc पर व्यतीत करते हैं।

Digital Marketing के फायदे।

  • कम से कम समय में Maximum लोगों तक पहुंचना।
  • बेवजह भागम – भाग से बचना।
  • कम लागत में अपने Product का Promotion करना।
  • अपने विज्ञापन को Geographical , Age & Gender के अनुसार Customer  तक पहुँचाना।
  • बड़ी आसानी से अपने Targeted Customer तक पहुंचना।
  • अपने Product की Advertising या Marketing को Monitor करना।

Digital Marketing के प्रमुख Platform क्या है

Digital Marketing जैसे – जैसे आगे बढ़ रहा है उसके स्वरूप एवं तरीकों में भी परिवर्तन आ रहा है। अगर इसके इतिहास पर नजर डालें तो इसकी शुरुवात Google के आ जाने के साथ ही हो चूका था , लेकिन उस समय Internet और Internet Supported Mobile Phones इतने सस्ते नहीं थे। फिर धीरे – धीरे इनका सस्ता होना और लोगों के हाथों में Android Mobile के आ जाने से Digital Marketing और भी बढ़ते गया। आज के समय में Digital Marketing का सबसे बड़ा Platform YouTube , Facebook , Instagram ,Tweeter  WordPress Blogs etc हैं।  मैं यंहा निचे कुछ Biggest  Social Media Platform , Online Marketing & Selling Website का नाम listing कर रहा हूँ , जो आज के समय में Market में Trend कर रहे हैं।

Types Of Digital Marketing . 

वैसे तो Digital Marketing एक पूरी प्रक्रिया (Process) है। इस पुरे Process को करने में कई Steps आते हैं जिसे हम Digital Marketing के प्रकार कह सकते हैं। Nail Patel की Theory के अनुसार Digital Marketing करने के प्रमुख तरिके या इसके मुख्य प्रकार कुछ इस तरह हैं।

  • SEO – Search Engine Optimization
  • SEM – Search Engine Marketing
  • Content Marketingज़
  • SMM – Social Media Marketing
  • PPC – Pay Per Click Advertising
  • Affiliate Marketing
  • Email Marketing

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों Digital Marketing आज का Trend है। जैसे जैसे Internet का Uses बढ़ रहा है , लोगों का रुझान भी Digital Channels की तरफ बढ़ता जा रहा है। सबसे अहम बात यह कि  इसे बड़ी आसानी से एवं कम लागत में किया जा सकता है। यह उपभोगता एवं व्यापारी के बीच के  सामंजस्य अथवा ताल मेल को बनाने में सफल है, जिसके परिणाम स्वरूप Product or Services की बिक्री भी बढ़ती है।

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको यह Article अच्छा एवं इस Article से जरुर कुछ न कुछ Information आपको प्राप्त हुआ होगा। अगर यह Post आपको Helpful लगा हो तो Social Media पर जरूर Share करें एवं अपने Comments से हमे जरूर अवगत करायें।

Post को पूरी तरह से पढ़ने के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यवाद !!!