Digital Wellbeing Kya Hai – डिजिटल वेल्बीइंग क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करे

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे एक नए लेख में. आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डिजिटल वेल्बीइंग क्या होता है (Digital Wellbeing kya hai) और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है. हम ये भी देखेंगे की डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) के क्या क्या फायदे और नुकशान है. डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) के बारे में पूरी जानकारी के लिए इस ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़िए।

Digital Wellbeing Kya Hai
Digital Wellbeing Kya Hai

स्मार्टफोन एक बहुत ही बेहतरीन टूल है जिसकी मदद से हमारे अनेकों काम आसानी से हो जाते है और ये स्मार्टफोन दुनिया के हर एक व्यक्ति के जीवन का एक बहुत ही महत्पूर्ण हिस्सा बन चूका है. बच्चो के स्कूल से लेकर ऑफिस के जितने भी काम है वो हम अपने स्मार्टफोन की हेल्प से बहुत आसानी से मिंटो में ख़तम कर देते है. इतना ही नहीं स्मार्टफोन हमारे मनोरंजन में भी एक अहम् भूमिका निभाता है. लेकिन कई बार जब हमे स्मार्टफोन की जरूरत नहीं भी होती है तो हम फिर भी इसका इस्केमाल करके अपना समाये ख़राब कर देते है. जब हम स्मार्टफोन का उपयोग मनोरंजन के लिए करते है तो हमे समय का पता नहीं चल पाता है और मनोरंजन के चकर में हम अपने दिन के समय का एक महत्पूर्ण हिस्सा बर्बाद कर देते है.

इसका मतलब ये हुआ की एक तरफ स्मार्टफोन हमारा समय बचा रहा है तो दूसरी तरफ ये हमारा समय बर्बाद भी कर रहा है. तो यँहा यह सवाल उठता है की हम अपने मोबाइल फ़ोन का सही से इस्तेमाल कैसे करे जिससे हमारा समाये बर्बाद न जाए.

इसके लिए हम हमारे मोबाइल फ़ोन में पहले से उपलब्ध डिजिटल वेल्बीइंग का इस्तेमाल कर सकते है. अगर आप इस फीचर के बारे में पहेली बार सुन रहे है तो इस आर्टिकल (Digital Wellbeing Kya Hai) को अंत पढियेगा हम आपको इसके बारे में कम्पलीट जानकारी देंग।

डिजिटल वेल्बीइंग क्या है – Digital Wellbeing Kya Hai

हमारे एंड्राइड (Android) फ़ोन में एक बहुत ही शानदार फीचर है जिसका नाम डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) है. ये हम सबके स्मार्टफोन में पहले से अवेलेबल है लेकिन जानकारी नहीं होने की वजह से इसका इस्तेमाल कुछ ही लोग करते है. इस फीचर की सहायता से आप अपनी स्मार्टफोन का सदुपयोग कर सकते है और ये भी देख सकते है की आप अपने दिन का कितना समय स्मार्टफोन पर जाया कर रहे है.

Digital Wellbeing Kya Hai
Digital Wellbeing Kya Hai

गूगल (Google) के द्वारा यह फीचर 2018 में लाया गया था और ये उन सभी स्मार्टफोन में देखने को मिलता है जो इस समय के बाद मार्किट में आये थे. गूगल ने ये फीचर इसलिए लाया था ताकि लोग

  • अपने दिन का कितना समय स्मार्टफोन पर गुजार रहे है उसका हिसाब किताब रख सखे.
  • वो ये भी देख सके की वो किस अप्प का कितने देर तक इस्तेमाल कर रहे है.
  • जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाले अप्प पर टाइम लिमिट (Time Limit) लगा सके.

इस फीचर की वजह से बहुत सारे  लोगो को फायदा हो रहा है. वो अपने दिन के समय का हिसाब किताब रख पा रहे है और अपने स्मार्टफोन से जुड़ी गलत आदतों पर भी सुधार कर रहे है.

डिजिटल वेल्बीइंग का उपयोग कैसे करे

डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) का इस्तेमाल करने के लिए निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करे:

Step 1: सबसे पहले आप अपनी स्मार्टफोन में सेटिंग (Settings) खोल ले. फिर सर्च में जाकर सर्च करे (Digital Wellbeing and Parental Control) “डिजिटल वेल्बीइंग एंड पैरेंटल वेल्बीइंग”. आपके सामने जो ऑप्शन आएगा उस पर क्लिक कर दे.

Digital Wellbeing Kya Hai
Digital Wellbeing Kya Hai

Step 2: अब आपके सामने जो खुलेगा वो डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) का इंटरफ़ेस होगा. ये इंटरफ़ेस अलग अलग फ़ोन में अलग अलग तरीके का देखने को मिल सकता है.

  • Daily Usage Time: सबसे ऊपर आपको अपने फ़ोन का डेली यूसेज टाइम (Daily Usage Time) देखने को मिल जाता है. यह टाइम देख कर आप पता कर सकते है की आप हर  दिन अपने फ़ोन का कितने देर तक इस्तेमाल कर रहे है.
  • Unlocks: ठीक डेली यूसेज टाइम (Usage Time) के निचे आपको अनलॉक (Unlock) का फीचर देखने  मिल जाता है. इस फीचर की मदद से आप ये पता कर सकते है की आपने दिन भर में कितनी बार अपना फ़ोन अनलॉक (Unlock) किया है.
  • Notifications: ये फीचर ठीक अनलॉक (Unlock) के बगल में होता है. इससे आप ये पता कर सकते है की दिन भर में आपके फ़ोन पर कितने नोटिफिकेशन्स (Notifications) आये है.

Step 3: डेली यूसेज टाइम (Daily Usage Time) के ऊपर क्लिक करके आप ये चेक कर सकते है की आपने आज सुबह से किस किस अप्प का इस्तेमाल कितने देर तक किया है. ये टाइमिंग देख कर आप ये भी पता कर सकते है की आपने किस अप्प का इस्तेमाल सबसे ज्यादा और किस अप्प का सबसे कम कीया है. इस फीचर की मदद से आप अपने डेली एक्टिविट्स (Daily Activities) को ट्रैक कर सकते है और अपनी आदतों को सुधार सकते है.

  • प्रतेक अप्प के सामने आपको एक डमरू जैसा आइकॉन (Icon) देखने को मिल जाता है. ये आइकॉन टाइमर का है. इस आइकॉन पर क्लिक करके हर एक अप्प पर टाइम लिमिट (Time Limit) डाल सकते है. जैसे ही आपका यूसेज टाइम आपके द्वारा सेट किये गए टाइम से ज्यादा होगा तो आपके स्क्रीन पर एक नोटिफिकेशन (notifications) आएगा और उसके बाद उस अप्प को डिसएबल (Disable) कर दिया जायेगा। अगर आप उस अप्प को दुबारा से यूज़ करना चाहते है तो आपको फिर से सेटिंग में जाकर टाइम लिमिट बढ़ना होगा या टाइम लिमिट को बंद करना होगा।

Step 4: अनलॉक पर क्लिक करके आप ये देख सकते है की आपने दिन भर में किस अप्प को कितनी बार अनलॉक (Unlock) किया है.

Step 5: नोटिफिकेशन्स (Notifications) पर क्लिक करके आप ये देख सकते है की आपके फ़ोन पर दिन भर में कितने नोटिफिकेशन्स किस अप्प पर आये है. अगर आपको ऐसा लगता है की किसी अप्प पर बहुत ज्यादा नोटिफिकेशन्स आ रहे है तो आप उस अप्प पर क्लिक करके नोटिफिकेशन्स मैनेज (Notifications Manage) भी कर सकते है.

Ways to Disconnect: अब हम डिजिटल वेल्बीइंग के दूसरे पार्ट के बारे में बात करने वाले है.  इस पार्ट में आपको तीन तरीके देखने को मिल जाते है जिससे आप अपने फ़ोन से डिसकनेक्ट  हो सकते है.

Digital Wellbeing Kya Hai
Digital Wellbeing Kya Hai
  1. Dashboard: डैशबोर्ड में जाकर आप हर एक अप्प का यूसेज टाइम चेक कर सकते है और अपने अनुशार टाइमर भी सेट कर सकते है.
  2. Bedtime mode: जैसे ही आप बेडटाइम मोड पर क्लिक करते आपको तीन ऑप्शन देखने को मिल जाता है Based on Schedule, While Charging at Bedtime, off.
  • Based On Schedule: इस ऑप्शन पर क्लिक करके आप एक टाइम फ्रेम सेलेक्ट कर सकते है जिसके बाद आपके मोबाइल की स्क्रीन ब्लैक एंड वाइट हो जायेगी और आपको कोई नोटिफिकेशन भी देखने को नहीं मिलेगा।
  • While Charging at Bedtime: इस ऑप्शन पर क्लिक करके आप एक टाइम फ्रेम सेलेक्ट कर सकते है जिसके दौरान अगर आपने अपने मोबाइल को चार्जिंग में लगाया है तो आपका स्क्रीन ब्लैक एंड वाइट हो जायेगा और आपको कोई नोटिफिकेशन भी देखने को नहीं मिलेगा।
  • Off: इस ऑप्शन पर क्लिक करके आप बेडटाइम मोड को बंद कर सकते है.

3. Focus mode: फोकस मोड पर क्लिक करके आप किसी अप्प को एक निश्चित टाइम के लिए बंद कर सकते है.

Digital Wellbeing App Download Kaise Kare

  • डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) के अप्प को आप प्ले स्टोर से डाउनलोड नहीं कर सकते है. इसके लिए आपको अपने मोबाइल फ़ोन की सेटिंग्स में जाना होगा और वंहा सर्च करना होगा डिजिटल वेल्बीइंग एंड पैरेंटल कण्ट्रोल (Digital Wellbeing and Parental Control) और उस पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद अब आपको निचे की  तरफ स्क्रॉल करना है और Show icon in the app list पर क्लिक कर देना है.
  • इस  तरह से आपके फ़ोन में डिजिटल वेल्बीइंग का अप्प देखने को मिल जायेगा।
Digital Wellbeing Kya Hai
Digital Wellbeing Kya Hai

निष्कर्ष

दोस्तों इस लेख (Digital Wellbeing Kya Hai) में हमने काफी विस्तार से देखा की डिजिटल वेल्बीइंग क्या होता है (Digital Wellbeing Kya Hai) और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है. हमने इस पोस्ट में डिजिटल वेल्बीइंग (Digital Wellbeing) के हर एक फीचर को काफी डिटेल में देखा. दोस्तों, अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया है तो अपने दोस्तों को भी शेयर करे और उनको डिजिटल वेल्बीइंग क्या है यह भी बताये।

Read more:

Leave a Comment

How to Join WhatsApp After BCA: A Comprehensive Guide Master C Language in 6 Months: 15 Hidden Facts That Will Amaze You!