External Link Kya Hai और कैसे बनाते है? External Link बनाने का क्या फायदा हैं

External Link Kya Hai: Blog में आर्टिकल लिखते समय उस Topic को अच्छे से समझाने के लिए विभिन्न Source का संदर्भ लेना आम बात होता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस Niche या विषय पर आर्टिकल लिख रहे हैं। आर्टिकल लिखते समय किसी ऑकड़ों को प्रदर्शित करने अथवा किसी बिषय को रिफ्रेंश देने के लिए इनकी आवश्यकता होती है। यहाँ पर External Linking आपकी SEO रणनीति के हिस्से के रूप में काम आती है।

इसी बिषय पर आज हमारा यह लेख है, क्योंकि आज के समय में बहुत से ऐसे नये Blogger है, जिन्हे External Linking की सही जानकारी नही है। जिसके कारण वह अपने ब्लॉग में External Link नही दे पाते हैं। इसका बुरा असर उनके ब्लॉग Bounce Rate पर पड़ता है। गलत External Linking होने से ब्लॉग का बाउंस रेट बढ़ जाता है

इस लेख में आप सीखेंगे कि External Link Kya Hai? External Link देना कब आवश्यक है? External Link Kaise Kare और आपको अपने पूरे लेख में कितने External Link का उपयोग करना चाहिए?

तो ज्यादा समय न खराब करते हुए सीधे चलते हैं अपने लेख पर जहाँ विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं कि External Link Kya Hai? और External Linking कैसे करें?

Table of Contents

External Link वे लिंक होते हैं जिन्हें आप अपनी वेबसाइट पर बनाते हैं और अन्य वेबसाइटों की ओर इशारा करते हैं। उन्हें ” Outbound link” भी कहा जाता है। उनका उपयोग अक्सर आपने पाठकों को उस विषय पर अधिक जानकारी प्रदान करने के लिए किया जाता है जिस पर आप आर्टिकल लिखते हैं। या उन Source को प्रदर्शित करने के लिए जिनका आपने अपने शोध में उपयोग किया है।

Internal Linking की तुलना में External Link का सर्च इंजन रैंकिंग पर अधिक प्रभाव पड़ता है क्योंकि External Link को सर्च इंजन द्वारा वेबपेज में विश्वास/लोकप्रियता के External Votes के रूप में महत्व दिया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि आप कोई आँकड़ा प्रस्तुत करते हैं, तो पाठक स्वाभाविक रूप से उत्सुक हो जाएगा कि क्या आँकड़ा सत्य है या यह किस पर आधारित था। किसी विश्वसनीय Source का External Link डालने से वह चिंता तुरंत दूर हो जाती है, और Proxy द्वारा, आपका लेख अधिक भरोसेमंद हो जाता है। इसलिए, यदि आप External Link का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो आप अपने SEO को बेहतर बनाने का एक महत्वपूर्ण अवसर खो रहे हैं।

External Link, SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण फैक्टर होता है। जो आपके ब्लॉग को रैंक करने में आपकी मदद करता है। आप External Link का उपयोग अपने आर्टिकल के अलावा साइट नेविगेशन में भी कर सकते हैं। यदि आपका ब्लॉग आपके मुख्य पेज से भिन्न URL पर है, तो आप अपने नेविगेशन के एक भाग के रूप में ब्लॉगरोल में External Link डाल सकते हैं।

External Link एक ऐसा लिंक है जो किसी बाहरी डोमेन अथवा वेबसाइट की ओर इशारा करता है। SEO एक्सपर्ट का मानना है कि External Link रैंकिंग Power का सबसे महत्वपूर्ण Source है।

External Link, Link Juice (लिंक इक्विटी) को Internal Link से अलग तरीके से पास करते हैं क्योंकि सर्च इंजन उन्हें third-party के वोट के रूप में मानते हैं। इसके अलावा SEO एक्सपर्ट यह नहीं मानते कि “Title” लिंक Attribute का उपयोग रैंकिंग उद्देश्यों के लिए किया जाता है।

Backlink वो होते हैं, जो किसी अन्य साइट से आपकी वेबसाइट की ओर इशारा करते हैं, इनसे आपकी वेबसाइट की विश्वसनीयता बढ़ती है। External Link वे होते हैं जिन्हें आप अपनी वेबसाइट पर बनाते हैं और अन्य वेबसाइटों की ओर इशारा करते हैं, आमतौर पर Source के रूप में या किसी ऐसे विषय में गहराई से जानने के लिए जिसे आप अपने लेख में कवर नहीं कर सकते हैं।

Backlink आमतौर पर External Link की तुलना में अधिक Valuable होते हैं क्योंकि ये दिखाते हैं कि अन्य वेबसाइटें आपसे लिंक कर रही हैं, जिसका अर्थ है कि उन्हें लगता है कि आपकी वेबसाइट महत्वपूर्ण और भरोसेमंद है। हालाँकि, External Link अभी भी Valuable हो सकते हैं यदि वे High-Quality वाले और Relevant हों।

आप आपने ब्लॉग में अपनी SEO रणनीति को बेहतर करने के लिए इस दोनो तरह की लिंक का उपयोग अवश्य करें।

External Linking SEO के लिए क्यों जरूरी है?

सर्च इंजन रैंकिंग Factor के सर्वे डेटा से पता चला है कि High Ranking प्राप्त करने के लिए External Link देना बहुत जरूरी है। सर्च इंजन किसी भी वेबपेज की लोकप्रियता निर्धारित करने के लिए External Link का उपयोग करते हैं। External Link की मदद से वेबपेज की लोकप्रियता निधारित करने कि शुरुआत Alta Vista ने की थी। जिसके Google ने इसमें सुधार किया था।

Google का PageRank किसी भी वेबपेज की लोकप्रियता को निर्धारित करता है। PageRank किसी भी वेबपेज की External Link को लोकप्रियता के लिए वोट के रूप में गिनाता है। जिन वेबपेजों की ओर इशारा करने वाले सबसे अधिक लिंक होते हैं उन्हें सबसे लोकप्रिय माना जाता था। जब उन्हें किसी विशेष क्वेरी के लिए relevant माना जाता था, तो सबसे लोकप्रिय और Relevant वेबपेज सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर टॉप पर रैंक कर जाते हैं।

आज के समय में टॉप सर्च इंजन External Link की Value को निर्धारित करने के लिए कई Metrics का उपयोग करते हैं। इनमें से कुछ Metrics निम्नलिखित हैं।

  • Linking डोमेन की विश्वसनीयता।
  • Linking पेज की लोकप्रियता।
  • Source Page और Target Page के Content के बीच Relevancy।
  • Link में उपयुक्त सही Anchor Text।
  • Source Page पर एक ही Page के लिंक की संख्या।
  • Target Page से लिंक होने वाले रूट डोमेन की संख्या।
  • Target Page के लिंक के लिए Anchor Text के रूप में उपयोग की जाने वाली Variations की संख्या।
  • Source और Target डोमेन के बीच Ownership संबंध।

External Link तब सबसे उपयोगी होते हैं जब वे High-Quality वाले और Relevant हों। एक High-Quality वाला External Link एक ऐसी वेबसाइट का लिंक होता है जो भरोसेमंद होती है और जिसकी अच्छी प्रतिष्ठा होती है। Relevant, External Link एक वेबसाइट का लिंक होता है जो उस विषय से संबंधित होता है जिस पर आप लेख रहे होते हैं।

केवल उन वेबसाइटों से लिंक करना महत्वपूर्ण है जिन पर आप भरोसा करते हैं, क्योंकि Low-Quality या Irrelevant वेबसाइट से लिंक करने से आपकी अपनी प्रतिष्ठा को नुकसान हो सकता है। जब कोई संदेह हो, तो सावधानी वर्तें और किसी External Link को शामिल न करें, जो आपकी विश्वसनीयता को नुकसान पहुंचा सकता है।

नीचे कुछ संकेत दियें गये हैं जिनकी मदद से आप यह निर्धारित करते हैं कि लिंक अच्छा है या बुरा।

  • कम Domain Authority
  • असुरक्षित लिंक
  • No Follow Link
  • Irrelevant या हानिकारक लिंक
  • Link Spam

यहाँ तक आप यह अच्छे से जान गये होंगे कि External Link Kya Hai? External Link, SEO के लिए क्यों जरूरी होते हैं? लेकिन अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि आखिर External Link क्यों देते हैं? External Link देने से युजर्स हमारे ब्लॉग से बाहर चलेंगे जायेंगे।

इन सवालों का जवाब यह हैं कि माना लीजिए आप अपने ब्लॉग के लिए को लेख लिख रहे हैं और उसमे आप किसी टॉपिक को 100% सत्य बताने के लिए उस Source को External Link के रूप में उपयोग कर सकते हैं। जहाँ से आपने रिसर्च किया है। इसके अलावा आप किसी भी आर्टिकल में किसी बिषय को कवर नहीं करना चाहते हैं, जो आपके लेख में आता है, तो इसके लिए आप External Link का उपयोग कर सकते हैं।

और रही बात युजर्स आपके ब्लॉग से बाहर चलेंगे तो आप External Link का उपयोग करें। जब इसकी जरूरत बहुत ज्यादा हो।

External Linking कैसे करें?

अब जब आप External Link के लाभों के बारे में जान गये हैं और ये कब उपयोगी होते हैं, तो आइए जानते हैं उनका उपयोग करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखें।

  • कीवर्ड से संबंधित Anchor Text का उपयोग करें।
  • अपने ब्लॉग के वेबपेज में External Link की संख्या सीमित रखें।
  • External Linking करते समय हमेशा External Link की Quantity पर नही बल्कि उसकी Quality पर ध्यान दें।
  • सदैव External Linking गाइड का पालन करें
  • अपने बिषय से संबधित वेबपेज का External Link करें।
  • जब बहुत ही जरूरी हो तभी External Link का उपयोग करें। अन्यथा External Link का उपयोग न करें।

External Linking के बहुत सारे फायदे होते हैं। जो निम्नलिखित हैं।

  • External Linking करने से गूगल की नजरों में आपके ब्लॉग की Value बढ़ती है।
  • इससे आपके ब्लॉग पर युजर्स का अनुभव बेहतर होता है। क्योंकि उन्हे एक ही जगह पर उनकी बिषय पर उन्हे सम्पूर्ण जानकारी मिल जाती है।
  • गूगल को आपकी वेबसाइट पर भरोसा बढ़ता है।
  • अगर कोई आपकी वेबसाइट का लिंक अपनी वेबसाइट में Use करता है, तो यहाँ पर आपको Backlink मिलता है। इससे आपकी वेबसाइट की Domain Authority और Page Authority बढ़ती है।

External Link से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न निम्नलिखित हैं।

हां, External Link किसी वेबसाइट को नुकसान पहुंचा सकते हैं यदि वे किसी Link Scheme का हिस्सा हों। किसी वेबसाइट से Unnatural links को Penalize कर सकता है। इसमें Link Selling, अधिक External Link और Dofollow लिंक वाले विज्ञापन शामिल हैं।

External Link वे लिंक होते हैं जो पाठकों को किसी वेबसाइट के एक पेज से दूसरी वेबसाइट के पेज पर भेजते हैं।

अपनी वेबसाइट के External Link तलाशने के लिए, आपको Google Search Console या Moz’s Link Explorer जैसे SEO टूल का उपयोग करना होगा। ये आपको आपकी साइट पर ज्ञात Backlink के साथ-साथ उपयोग किए गए Anchor Text जैसी अन्य जानकारी भी दिखा सकते हैं।

Q4. क्या बिना अनुमति के किसी वेबसाइट से लिंक करना गैरकानूनी है?

आपको किसी अन्य वेबसाइट से लिंक करने के लिए अनुमति की आवश्यकता नहीं है। हालाँकि दुनिया के कुछ हिस्सों में कुछ कानूनी मामले और विशेष आवश्यकताएँ हैं, अधिकांश वेबमास्टर अपनी इच्छानुसार किसी भी चीज़ को लिंक करने के लिए स्वतंत्र हैं।

हाँ! External Link आपके SEO को बेहतर बनाने और अपने पाठकों को Value प्रदान करने का एक शानदार तरीका है। बस Content के प्रत्येक भाग में उनका संयमित रूप से उपयोग करना सुनिश्चित करें और quantity से अधिक quality का चयन करें।

 आज के इस लेख में हमने आपको External Link Kya Hai (What is External Link in Hindi) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की है। ताकि आपको इस बिषय से संबंधित जानकारी हाँसिल करने के लिए इंटरनेट पर अपना समय ना वर्बाद करना पढें।

Leave a Comment

How to Join WhatsApp After BCA: A Comprehensive Guide Master C Language in 6 Months: 15 Hidden Facts That Will Amaze You!